फरीदाबाद: पुलिस कमिश्नर राकेश कुमार आर्य के दिशा निर्देश अनुसार पुलिस के द्वारा छात्रों, आम जनता,महिलाओं को जागरूक करने के लिए लगातार जागरूक करने का अभियान चलाए जा रहा है। इसी कड़ी में डीसीपी बल्लबगढ़ राजेश दुग्गल, एसीपी सिटी बल्लभगढ़ के दिशा निर्देश अनुसार थाना प्रबंधक आदर्श नगर निरीक्षक संजय कुमार और उनकी पुलिस टीम के द्वारा ऊंचा गांव स्थित महिला आईटीआई में छात्रों और अध्यापकगणों को साइबर क्राइम से बचने, महिला सुरक्षा, यातायात के नियम, नशे की दुष्परिणाम और डायल 112 ऐप के संबंध में जागरूक किया गया।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि महिला आईटीआई पहुंची पुलिस टीम ने छात्राओं को सामाजिक मुद्दों के बारे में जागरूक करने के लिए अहम जानकारियां दी और उन्हें महिला व बाल अपराध तथा साइबर ठगी व सड़क सुरक्षा के बारे में बताते हुए महिला विरुद्ध अपराधों में अपनी आवाज उठाने, साइबर ठगी से बचने तथा सड़क पर यात्रा करते समय सुरक्षा उपकरणों का उपयोग करने और यातायात नियमों का पालन करने के बारे में जागरूक किया।

साइबर क्राइम के संबंध में किया जागरूक-

इंस्पेक्टर संजय ने साइबर क्राइम के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि नवयुवक किसी भी प्रकार की फ्रॉड कॉल या अनजान लिंक आने पर अपनी प्रतिक्रिया न दें और किसी भी लिंक पर क्लिक न करें। वर्तमान समय में बढ रहे साइबर क्राइम के बारे में और बचाव के संबंध में किसी को भी अपनी बैंक डिटेल, ओटीपी शेयर न करने, अज्ञात फर्जी नंबरों से आने वाले फोन कॉल से सावधान रहने की अपील की और बताया कि कैसे हम फोन पर आने वाले फ्रॉड कॉल और मैसेज के झांसे में आने से बचे। अगर हम सभी अनजान कॉल और मैसेज से बचने लगेंगे तो साइबर अपराध पर अंकुश लगाया जा सकता है। हम कई बार अपने छोटी-छोटी पैसों के लालच में ठगों के द्वारा रचाये गए षडयंत्रों में फंस जाते हैं। अब हमें आवश्यकता है कि हम अपने आप को साइबर अपराध के बारे में जागरूक रखें तभी साइबर अपराध पर अंकुश लगाया जा सकता है।

महिला सुरक्षा के संबंध में पुलिस द्वारा दिए गए सुझाव-

इंस्पेक्टर संजय ने बताया कि प्रशासन के साथ आमजन को भी आगे आना चाहिए और अपराध व अपराधियों से सजक रहना चाहिए। अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होना ही महिलाओं की मजबूती है। महिला सुरक्षा पर उनके अधिकारों के लिए पुलिस प्रशासन ने कड़े सुरक्षा प्रबंध किए हुए हैं। साथ ही महिलाओं को अपने हौसले को कम न देने की सलाह दी है। उन्होंने महिला हेल्पलाइन नंबर को कंठस्थ करने व अपने पास सुरक्षित रखने का आवाहन भी किया है।

डायल 112 एप-

थाना प्रबंधक आदर्श नगर संजय कुमार ने बताया कि पुलिस के द्वारा डायल 112 की गाड़ियां चलाई जा रही है। जोकि फरीदाबाद में हर पुलिस थाना के अंतर्गत पड़ने वाले एरिया में हमेशा मौजूद रहती हैं। अगर हमें किसी भी प्रकार की असुरक्षा महसूस होती है तो हम अपने फोन से 112 पर सूचना देकर पुलिस की मदद ले सकते हैं। फोन करने के पश्चात 10 से 15 मिनट में आपको पुलिस की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। संजय कुमार ने बताया की डायल 112 की गाड़ी में फर्स्ट एड किट भी मौजूद रहती है किसी की घायल व्यक्ति का प्राथमिक उपचार किया जा सकता है।

नशा तस्करी पर रोक-

थाना प्रबंधक ने बताया कि नशा हमारे जीवन को और हमारे देश के भविष्य को अंधकार में धकेलता है। यह हमारे शरीर और देश दोनों को ही अंदर से खोखला बना देता है। हमें नशे की तस्करी के ऊपर पूर्णतया रोक लगानी है। अगर आपके क्षेत्र में भी कोई भी आदमी नशा तस्करी या नशे की खरीद फिरोखत करता है तो इसकी सूचना आप पुलिस को दें। इस प्रकार आप अपराधियों की सूचना देकर पुलिस की मदद कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here