कॉलेज विद्या, ऑनलाइन कोर्सेज का विकल्प चुनने वाले छात्रों के लिए वन स्टॉप सोल्यूशन, ने पिछले साल 2023 में अपने ऑनलाइन कोर्सेज में 10 हजार से ज्‍यादा छात्रों के दाखिला लेने की घोषणा की थी। यह उपलब्धि कंपनी के लिए काफी महत्वपूर्ण है। कंपनी ने अगले साल 2024 में 20 हजार से ज्यादा छात्रों के दाखिले का लक्ष्य तय किया है।

कॉलेज विद्या द्वारा पेश किए गए ऑनलाइन कोर्सेज में अलग-अलग विभागों के छात्रों ने गहरी दिलचस्पी दिखाई है। छात्रों के बीच एमबीए, एमसीए, बीबीए, बीसीए और बी. कॉम के कोर्सेज ने काफी लोकप्रियता हासिल कर ली है। इससे भारत में ऑनलाइन शिक्षा के उभरते ट्रेंड का पता चलता है। अगर कोर्स की प्राथमिताओं के हिसाब से देखें तो 90 फीसदी छात्र लंबी अवधि के कोर्सेज में दिलचस्पी लेते हैं, जबकि 10 फीसदी छात्र अपने कौशल को बढ़ावा देने के लिए शार्ट-टर्म स्किल कोर्स करते हैं। ऑनलाइन एजुकेशन की बदलती जरूरतों को पूरा करने के लिए कॉलेज विद्या की योजना 2024 में कई कम अवधि के कोर्स लॉन्च करने और जागरूकता पहल करने की है।

कॉलेज विद्या के सीओओ और को-फाउंडर रोहित गुप्ता ने कहा, “हमें यह बताते हुए काफी खुशी हो रही है कि कॉलेज विद्या में 2023 में 10 हजार से ज्यादा छात्रों ने दाखिला लिया। यह एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। हम कॅरियर में आगे बढ़ने, कॅरियर बदलने और बिजनेस के झटकों से पीड़ित लोगों की ऑनलाइन शिक्षा की तरह-तरह की जरूरतों को पूरा करते हैं। 2024 में 20 हजार छात्रों के दाखिले के साथ हमारा लक्ष्य अपनी पेशकशों का विस्तार करना और सीवी कम्‍युनिटी को ज्यादा से ज्यादा मदद और समर्थन देना है। छात्रों में से 22 तरह के प्रोफाइल की पहचान की गई। इससे कॉलेज विद्या की ओर से ऑफर किए जाने वाले कोर्सों की विविधता उभरती है। कॉलेज विद्या शानदार ऑनलाइन एजुकेशन प्लेटफॉर्म बनने के लिए प्रतिबद्ध है, जिससे छात्रों को सबसे बेहतर ऑनलाइन एजुकेशन प्रदाता की खोज में मदद मिल सके और उच्च गुणवत्तापूर्ण शिक्षा तक सभी की पहुंच हो।’’

जिन छात्रों ने मार्गदर्शन के लिए कॉलेज विद्या के प्लेटफॉर्म पर अपना नामांकन कराया, इसमें विभिन्न वर्गों के लोग शामिल थे। इसमें कॅरियर में आगे बढ़ने, कॅरियर बदलने के इच्छुक छात्रों के साथ ऐसे लोग शामिल हैं, जिनको बिजनेस से काफी नुकसान हुआ था और अब वह नौकरी कर रहे हैं। स्टूडेंट्स के बेस से 22 तरह के प्रोफाइल की पहचान की गई, जिससे कॉलेज विद्या की विविधता उभरती है। आंकड़ों का और विश्लेषण करने से पता चलता है कि ऑनलाइन कोर्स में दाखिला लेने वाली 30 फीसदी महिलाएं थीं। दिलचस्प बात यह थी कि इसमें केवल 2 फीसदी महिलाओं को 10 से ज्यादा वर्षों तक कार्य करने का अनुभव था और हर तिमाही में उनके काम करने के कौशल को बेहतर बनाया गया था। कॉलेज विद्या का लक्ष्य अपनी नई शॉर्ट फिल्म (डिग्री ऑफ फ्रीडम) से ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को ऑनलाइन कोर्स करने के लिए उत्साहित करना है और एक संतुलित प्रतिनिधित्व हासिल करना है। कंपनी ने 2024 में 20 हजार छात्रों को अपने ऑनलाइन कोर्से में दाखिला लेने का लक्ष्य तय किया है, जिसमें 45 फीसदी के करीब महिलाएं हों।

इसी दिशा में आगे बढ़ते हुए, कॉलेज विद्या छात्रों के लिए मजबूत सपोर्ट सर्विसेज प्रदान कर उनकी मदद का प्रयास करता है। इस तरह इस क्षेत्र में परंपरागत विश्वविद्यालयों द्वारा छोड़े गए गैप को कॉलेज विद्या भरने की कोशिश कर रहा है। सीवी कम्युनिटी की पेशकश और इंटर्नशाला के साथ भागीदारी से छात्रों को इंटर्नशिप और नौकरी के अवसर प्रदान कर, नेटवर्क बढ़ाने, इंडस्ट्री के विशेषज्ञों से चर्चा में भाग लेने का मौका देकर और बातचीत की स्किल्स बढ़ाने की ट्रेनिंग देकर छात्रों के अनुभव को और निखारा जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here