आरोपियो से गाडी, देसी पिस्टल व 6 जिंदा रोंद बरामद

फरीदाबाद-27 मई, बता दे की 21 मई की देर रात को

21 मई को सेक्टर-11 एरिया से अपहरण व लूट के मुकदमें में अपराध शाखा उंचा गांव की टीम ने 4 आरोपियो को किया गिरफ्तार

आरोपियो से गाडी, देसी पिस्टल व 6 जिंदा रोंद बरामद

फरीदाबाद-27 मई, बता दे की 21 मई की देर रात को राजीव अशोक वासी मुकेश कॉलोनी को उनकी कार स्कॉर्पियों में बंधक बना लिया। आरोपियो ने स्कूटी से स्कॉर्पियो गाडी में टक्कर मारी और पीडित को उनकी गाडी में देसी पिस्तौल दिखाकर अपहरण कर ग्रेटर नोएडा ले गए। नोएडा में उनकी कार डिवाइडर से टकरा गई जिसके बाद आरोपी गाडी छोडकर भाग गए। स्थानिय पुलिस ने कार से व्यक्ति को अस्पताल पहुंचाया। जिसकी सूचना थाना पुलिस को प्राप्त हुई उच्च अधिकारियो को मामले के संबंध में अवगत कराया गया। पुलिस उपायुक्त अपराध हेमेन्द्र कुमार मीणा व पुलिस उपायुक्त बल्लबगढ़ अनिल कुमार के द्वारा तुरंत मुकदमा दर्ज कर आरोपियो की गिरफ्तारी के आदेश दिए जिनपर कार्रवाई करते हुए अपराध शाखा व थाना पुलिस आरोपियो की तलाश की जा रहा था।

पुलिस वार्ता के दौरान सहायक पुलिस आयुक्त अपराध अमन यादव ने मामले में अधिकर जानकारी देते हुए बताया कि अपराध शाखा उंचा गांव प्रभारी इंस्पेक्टर पंकज की टीम के द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपियो में चरण सिंह,विक्की उर्फ विवेक,अनिल और भारत नागर उर्फ भालू नाम शामिल है। आरोपी चरण सिंह(39) वासी अभयपुर गुरुग्राम हाल डबुआ कॉलोनी एनआईटी का, आरोपी विक्की उर्फ विवेक(20) निवासी गांव कोट फरीदाबाद का, आरोपी अनिल(36) निवासी गांव किवाना पानीपत, आरोपी भारत उर्फ भालू(24) निवासी गांव कचेडा गौतमबुध्द नगर हाल फ्रैंड्स कॉलोनी बल्लबगढ़ का रहने वाला है।

आरोपियो को अपराध शाखा टीम ने अपने गुप्त सूत्रों से प्राप्त सूचना से मौजपुर एरिया से काबू किया है। आरोपियो से मौके पर गाडी, देसी पिस्तौल व 6 जिंदा रोंद बरामद किए गए है। आरोपियो से पूछताछ में सामने आया कि आरोपी चरण का आरोपी भारत भांजा है। आरोपी अनिल व विक्की दोस्त है। आरोपी चरण सिंह स देसी पिस्तौल व 6 जिंदा रोंद बरामद हुए है। आरोपी देसी पिस्तौल को ऋषिकेश की व्यक्ति से खरीद कर लाया था। आरोपी चरण प्रोप्रटी डीलर का काम तथा आरोपी अनिल ओयो होटल चलाने का काम करता है। आरोपियो ने वारदात को पैसे के लिए अनजाम दिया है।

वारदात को कैसे दिया अंजाम- आरोपियो द्वारा देर रात को सेक्टर-11 पैट्रोल पम्प के पास से स्कॉर्पियों गाडी मे आते हुए व्यक्ति को अपनी स्कूटी से टक्कर मारी जिसको लेकर स्कॉर्पियो गाडी में से व्यक्ति उतरा तो उसका उसकी गाडी मे अपहरण कर ग्रेटर नोएडा ले गए। आरोपियो द्वारा व्यक्ति से 2500/-रु नगद, सोने की चेन व एटीएम कार्ड स्नैचिग किए गए तथा एटीएम कार्ड को प्रयोग कर पैसे निकालने की कोशिश की गई। पिन गलत होने पर पैसे नही निकले। आरोपियो से गाडी गलगोटिया कॉलेज के पास हड़बड़ाहट में डिवाइडर पर चढ़ गई और तार फेंसिंग में फंस गई। आरोपी डर से कार छोड़कर भाग गए। जहां से स्थानिय पुलिस द्वारा स्कॉर्पियो गाडी को बरामद कर कारोबारी व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

आरोपी चरण सिंह पर पूर्व में 7 मुकदमें लूट, स्नैचिंग औऱ मार-पीट के थाना एसजीएम नगर,सुरजकुण्ड, एनआईटी, कोतवाली में दर्ज है। आरोपी भारत के खिलाफ थाना शहर बल्लबगढ में 2 मुकदमें लडाई-झगडे के दर्ज है। आरोपियो को मुकदमें में स्कूटी पूछताछ के लिए, अवैध हथियार के संबंध में पूछताछ के लिए पुलिस रिमांड पर लिया गया है।

वासी मुकेश कॉलोनी को उनकी कार स्कॉर्पियों में बंधक बना लिया। आरोपियो ने स्कूटी से स्कॉर्पियो गाडी में टक्कर मारी और पीडित को उनकी गाडी में देसी पिस्तौल दिखाकर अपहरण कर ग्रेटर नोएडा ले गए। नोएडा में उनकी कार डिवाइडर से टकरा गई जिसके बाद आरोपी गाडी छोडकर भाग गए। स्थानिय पुलिस ने कार से व्यक्ति को अस्पताल पहुंचाया। जिसकी सूचना थाना पुलिस को प्राप्त हुई उच्च अधिकारियो को मामले के संबंध में अवगत कराया गया। पुलिस उपायुक्त अपराध हेमेन्द्र कुमार मीणा व पुलिस उपायुक्त बल्लबगढ़ अनिल कुमार के द्वारा तुरंत मुकदमा दर्ज कर आरोपियो की गिरफ्तारी के आदेश दिए जिनपर कार्रवाई करते हुए अपराध शाखा व थाना पुलिस आरोपियो की तलाश की जा रहा था।

पुलिस वार्ता के दौरान सहायक पुलिस आयुक्त अपराध अमन यादव ने मामले में अधिकर जानकारी देते हुए बताया कि अपराध शाखा उंचा गांव प्रभारी इंस्पेक्टर पंकज की टीम के द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपियो में चरण सिंह,विक्की उर्फ विवेक,अनिल और भारत नागर उर्फ भालू नाम शामिल है। आरोपी चरण सिंह(39) वासी अभयपुर गुरुग्राम हाल डबुआ कॉलोनी एनआईटी का, आरोपी विक्की उर्फ विवेक(20) निवासी गांव कोट फरीदाबाद का, आरोपी अनिल(36) निवासी गांव किवाना पानीपत, आरोपी भारत उर्फ भालू(24) निवासी गांव कचेडा गौतमबुध्द नगर हाल फ्रैंड्स कॉलोनी बल्लबगढ़ का रहने वाला है।

आरोपियो को अपराध शाखा टीम ने अपने गुप्त सूत्रों से प्राप्त सूचना से मौजपुर एरिया से काबू किया है। आरोपियो से मौके पर गाडी, देसी पिस्तौल व 6 जिंदा रोंद बरामद किए गए है। आरोपियो से पूछताछ में सामने आया कि आरोपी चरण का आरोपी भारत भांजा है। आरोपी अनिल व विक्की दोस्त है। आरोपी चरण सिंह स देसी पिस्तौल व 6 जिंदा रोंद बरामद हुए है। आरोपी देसी पिस्तौल को ऋषिकेश की व्यक्ति से खरीद कर लाया था। आरोपी चरण प्रोप्रटी डीलर का काम तथा आरोपी अनिल ओयो होटल चलाने का काम करता है। आरोपियो ने वारदात को पैसे के लिए अनजाम दिया है।

वारदात को कैसे दिया अंजाम- आरोपियो द्वारा देर रात को सेक्टर-11 पैट्रोल पम्प के पास से स्कॉर्पियों गाडी मे आते हुए व्यक्ति को अपनी स्कूटी से टक्कर मारी जिसको लेकर स्कॉर्पियो गाडी में से व्यक्ति उतरा तो उसका उसकी गाडी मे अपहरण कर ग्रेटर नोएडा ले गए। आरोपियो द्वारा व्यक्ति से 2500/-रु नगद, सोने की चेन व एटीएम कार्ड स्नैचिग किए गए तथा एटीएम कार्ड को प्रयोग कर पैसे निकालने की कोशिश की गई। पिन गलत होने पर पैसे नही निकले। आरोपियो से गाडी गलगोटिया कॉलेज के पास हड़बड़ाहट में डिवाइडर पर चढ़ गई और तार फेंसिंग में फंस गई। आरोपी डर से कार छोड़कर भाग गए। जहां से स्थानिय पुलिस द्वारा स्कॉर्पियो गाडी को बरामद कर कारोबारी व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

आरोपी चरण सिंह पर पूर्व में 7 मुकदमें लूट, स्नैचिंग औऱ मार-पीट के थाना एसजीएम नगर,सुरजकुण्ड, एनआईटी, कोतवाली में दर्ज है। आरोपी भारत के खिलाफ थाना शहर बल्लबगढ में 2 मुकदमें लडाई-झगडे के दर्ज है। आरोपियो को मुकदमें में स्कूटी पूछताछ के लिए, अवैध हथियार के संबंध में पूछताछ के लिए पुलिस रिमांड पर लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here