-द टाइम्स हायर एजुकेशन की ओर से जारी की गई है विश्व भर के संस्थानों की रैंकिंग

-लैंगिक समानता के लिए संस्थान को हरियाणा और एनसीआर में दूसरा स्थान मिला

फरीदाबाद,

मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज (एमआरआईआईआरएस) को टाइम्स हायर एजुकेशन इम्पैक्ट रैंकिंग 2024 में कई सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) मापदंडों पर बेहतरीन रैंकिंग मिली है। ये रैंकिंग वैश्विक स्तर पर एसडीजी के तहत दिए गए योगदान के लिए विश्वविद्यालयों का मूल्यांकन करती है। कुल चार व्यापक क्षेत्रों – अनुसंधान, प्रबंधन, आउटरीच और शिक्षण के तहत किए गए आंकलन के लिए इस साल रैंकिंग में दुनिया भर के 125 देशों से कुल 2152 विश्वविद्यालयों का मूल्यांकन किया गया है, जिसमें भारत से करीब 100 विश्वविद्यालय रैंकिंग में शामिल हैं।

विश्वभर के संस्थानों के बीच हुए आंकलन में स्वच्छ जल व स्वच्छता संस्थान को हरियाणा में पहली और एनसीआर में तीसरी रैंकिंग मिली है, जबकि भारत में इसे 26वां स्थान मिला है। वहीं ज़ीरो हंगर श्रेणी में भी संस्थान को हरियाणा में पहली और एनसीआर में तीसरी रैंकिंग मिली है, जबकि भारत में संस्थान ने टॉप 10 संस्थानों में जगह बनाते हुए आठवीं रैंक हासिल की है।

बेहतर स्वास्थ्य और कल्याण में संस्थान को हरियाणा में दूसरा, एनसीआर में तीसरा व भारत में 20वां स्थान मिला है। वहीं लैंगिक समानता श्रेणी में संस्थान को हरियाणा व एनसीआर दोनों में दूसरा और भारत में 12वां स्थान मिला है। इसके अलावा, उद्योग, नवाचार व बुनियादी ढांचा श्रेणी में संस्थान को हरियाणा में दूसरा, एनसीआर में तीसरा और भारत में 19वां स्थान मिला है।

असमानता में कमी श्रेणी में संस्थान प्रदेश में दूसरे, एनसीआर में पांचवें और देश में 20वें स्थान पर रहा है। लक्ष्यों के लिए साझेदारी में संस्थान को हरियाणा में दूसरी और एनसीआर में छठी रैंकिंग मिली है।

एमआरआईआईआरएस को QS यूनिवर्सिटी एशिया रैंकिंग 2024 में भी बेहतरीन स्थान मिला है, यह संस्थान की उत्कृष्टता, बेहतर छात्र-संकाय अनुपात की पहल, अंतरराष्ट्रीय छात्र व संकाय अनुपात के जरिए विविधता लाने और एक मजबूत अंतरराष्ट्रीय शोध नेटवर्क तैयार करने के लिए संस्थान के समर्पण का प्रमाण है।

इसके अतिरिक्त, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने एमआरआईआईआरएस को श्रेणी 1 डीम्ड-टू-बी विश्वविद्यालय के रूप में मान्यता दी है। वहीं एमआरआईआईआरएस दिल्ली-एनसीआर का पहला निजी विश्वविद्यालय है जिसे राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (नैक) ए++ मान्यता प्राप्त हुई है – यह एक शानदार मान्यता है जो भारत में केवल उच्चतम प्रदर्शन करने वाले विश्वविद्यालयों को दी जाती है।

इस उपलब्धि पर एमआरईआई के अध्यक्ष डॉ. प्रशांत भल्ला ने खुशी जताते हुए कहा, “टाइम्स हायर एजुकेशन इम्पैक्ट रैंकिंग (2024) में संस्थान का प्रदर्शन प्रशंसनीय मानव रचना के उच्च शिक्षा के प्रति प्रगतिशील दृष्टिकोण को दर्शाता है, जहां अकादमिक उत्कृष्टता के साथ सतत अभ्यास को बढ़ावा देते हुए एक बेहतर भविष्य का निर्माण किया जाता है।”

एमआरईआई के उपाध्यक्ष डॉ. अमित भल्ला ने संस्थानों के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा, “मानव रचना ने टाइम्स हायर एजुकेशन इम्पैक्ट रैंकिंग (2024) में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यों ने संस्थान को प्रगति की दिशा में आगे बढ़ाया है। संस्थान का मकसद है कि सभी योजनाएं एसडीजी को ध्यान में रखते हुए ही बनाई जाएं।

एमआरआईआईआरएस के कुलपति प्रो. डॉ. संजय श्रीवास्तव ने कहा, “एमआरआईआईआरएस का टाइम्स हायर एजुकेशन यूनिवर्सिटी इम्पैक्ट रैंकिंग 2024 में फिर शामिल होना और इसके अलावा कई दूसरे क्षेत्रों में भी बेहतर रैंकिंग पाना, भविष्य के लिए काबिल और सक्षम प्रोफेशनल तैयार करने की संस्थान की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। “

रैंकिंग मानव रचना के असाधारण रिसर्च प्रयासों, प्रभावशाली आउटरीच गतिविधियों, वैश्विक प्रदर्शन, उच्च शिक्षण मानकों और सस्टेनेबिलिटी के प्रति प्रतिबद्धता की दिशा में किए हए उल्लेखनीय प्रभावों का परिणाम है। मानव रचना शैक्षणिक संस्थानों का मूलमंत्र मानव रचना के सभी सदस्यों को दुनिया के साथ एकता की भावना रखने और सभी प्रयासों में सस्टेनेबिलिटी को आगे रखने के लिए प्रेरित करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here