फरीदाबाद, पुलिस आयुक्त श्री राकेश कुमार आर्य द्वारा ड्यूटी के दौरान श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले पुलिसकर्मियों की हौसलाअफजाई करने के लिए ‘हीरो ऑफ द वीक’ अभियान शुरू किया गया था। जिसमें सम्मानित किए जाने वाले पुलिसकर्मियों के साथ चाय पर चर्चा कर उनके द्वारा किए गए कार्य के बारे में जाना गया। साथ ही चाय पर चर्चा करते हुए पुलिस कार्यप्रणाली को बेहतर करने के लिए उनसे सुझाव व उनके व्यक्तिगत समस्या के बारे में पूछकर उनकी समस्याओं का समाधान किया गया और बतौर हीरो सम्मानित करने के लिए प्रशंसा पत्र व इनाम दिया गया।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि जिन पुलिसकर्मियों ने अपने क्षेत्र में अच्छा कार्य किया है उन्हें पुलिस आयुक्त ने अपने कार्यालय में चाय पर चर्चा करते हुए उनके कार्यों के अनुभवों के बारे में जाना गया। सम्मानित किए गए पुलिसकर्मियों में निम्नलिखित पुलिसकर्मी शामिल है-

क्राइम ब्रांच:

क्राइम ब्रांच डीएलएफ में तैनात उपनिरीक्षक विजय कुमार तथा मुख्य सिपाही जोगिंदर सिंह के द्वारा अवैध हथियार सप्लाई करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए मेरठ में अवैध हथियार बनाने की फैक्ट्री पकड़ी। इस मामले में अवैध हथियार बनाने, सप्लाई करने और रखने/प्रयोग करने वाले सहित 10 आरोपियों राहुल, कपिल, हैदर अली, मोहम्मद हैदर, इरशाद, मुकेश उर्फ मुक्का, साजिद, महिला आरोपी शबनम और शबनम का बेटा फरमान तथा दामाद तैयब को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है। आरोपियों के कब्जे से 11 देशी पिस्टल, 2 देशी कट्टे, 66 जिंदा रौंद, 7 मैगज़ीन, वारदात में प्रयोग 1 गाड़ी, 1 मोटरसाइकिल तथा काफी मात्रा में हथियार बनाने का सामान, औजार, डम्मी रिवाल्वर तथा डाई बरामद की गई

क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने 19 मार्च को सूरजकुंड थाना ग्रीनफिल्ड एरिया में 4 आरोपियों को अवैध असलाह सहित गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 6 अवैध हथियार तथा 40 कारतूस बरामद किए थे। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि यह असलाह वह इरशाद से लेकर आए थे। उपनिरीक्षक विजय की टीम ने आरोपी इरशाद को 2 अप्रैल को बल्लभगढ़ रेलवे स्टेशन से काबू किया। इरशाद के कब्जे से 1 पिस्टल तथा 2 खाली मैगजीन बरामद की। सिटी बल्लभगढ़ थाने में अवैध हथियार अधिनियम की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर आरोपी को पुलिस रिमांड पर लिया गया। रिमांड के दौरान उसने साथी आरोपी मुकेश के बारे में बताया। आरोपी मुकेश को भी बल्लभगढ़ से 1 देशी पिस्टल और 1 मैगजीन और 2 जिंदा कारतूस सहित गिरफ्तार किया। दोनों आरोपी उत्तर प्रदेश के मेरठ के रहने वाले किसी व्यक्ति से यह असला खरीदकर लाते थे और एनसीआर एरिया में सप्लाई करते थे। टीम ने मामले में आगे कार्रवाई करते हुए उक्त आरोपियों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर 6 अप्रैल को मेरठ में अवैध हथियार बनाने की फैक्ट्री पर छापा मारकर आरोपी शबनम, फरमान तथा तैयब को मौके से गिरफ्तार किया। आरोपियों को पुलिस रिमांड पर लेकर मामले में पूछताछ की गई जिसमें सामने आया कि आरोपी साजिद अवैध हथियार बनाने का कच्चा सामान सप्लाई करता था जिसे सूचना के आधार पर गिरफ्तार किया गया। पुलिस रिमांड पूरा होने के पश्चात सभी 10 आरोपियों को अदालत में पेश करके जेल भेजा गया है।

एनआईटी जोन:

सूरजकुंड थाने में तैनात मुख्य सिपाही ज्योति प्रसाद द्वारा वाहन चोरी के मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर चोरी की 2 मोटरसाइकिल बरामद की गई। दिनांक 29 मार्च को दीपक नाम के व्यक्ति ने पुलिस चौकी में शिकायत दी कि वह रिलायंस फ्रेश दयालबाग आया हुआ था और वहां से उसकी मोटरसाइकिल चोरी हो गई। पुलिस टीम ने मोटरसाइकिल की तलाश के लिए खोरी रोड पर नाकाबंदी कर दी जहां थोड़ी देर पश्चात एक शख्स चोरी की मोटरसाइकिल पर आता दिखाई दिया जिसे पुलिस ने मौके से काबू कर लिया। पूछताछ की गई जिसमें सामने आया कि आरोपी ने आज ही एक दूसरी मोटरसाइकिल बदरपुर बॉर्डर एरिया दिल्ली से भी चोरी की थी। आरोपी पप्पू निवासी भरतपुर को अदालत में पेश करके दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया जिसमें पुलिस रिमांड के दौरान आरोपी के कब्जे से चोरी की दूसरी मोटरसाइकिल को भी बरामद किया गया। जांच में सामने आया कि आरोपी बहुत ही शातिर किस्म का चोर है जो भरतपुर के ही रहने वाले अपने दो अन्य साथियों हरजिंदर तथा कुलवंत के साथ मिलकर गैंग चलाता है जिनके खिलाफ हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली तथा यूपी में हत्या का प्रयास, चोरी स्नैचिंग अवैध हथियार इत्यादि धाराओं के 40 से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। आरोपी फरीदाबाद से 25 से अधिक मोटरसाइकिल चोरी कर चुके हैं। पुलिस द्वारा अभी तक इस मामले में 4 मोटरसाइकिल बरामद की जा चुकी है। अपराध शाखा बड़खल द्वारा आरोपी को अलग-अलग मामलों में रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है जिसमें आरोपी के दो अन्य साथियों के बारे में जानकारी प्राप्त करके उनकी धरपकड़ कीजाएगी

पुलिस चौकी संजय कॉलोनी में तैनात मुख्य सिपाही भारत सिंह तथा सिपाही मनजीत सिंह ने 3 अप्रैल को गौछी, फरीदाबाद में चुन्नी से गला घोटकर की गई खुशबू नाम की महिला की हत्या के मामले में आरोपी बाजी उर्फ मसान को हत्या का मुकदमा दर्ज होने के बाद मात्र 48 घंटे में बिहार के भागलपुर से 7 अप्रैल को काबू करके फरीदाबाद लाया गया। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया कि खुशबू के किसी और के साथ संबंध है इसलिए उसने गुस्से में आकर 3 अप्रैल को चुन्नी से गला घोटकर खुशबू की हत्या कर दी और मौके से फरार हो गया। पुलिस को इस मामले में पांच अप्रैल को सूचना मिली जिसके आधार पर थाने में हत्या का मुकदमा दर्ज करके आरोपी की तलाश शुरू की गई। उक्त दोनों पुलिसकर्मी आरोपी की तलाश में बिहार पहुंचे और आरोपी को बिहार से गिरफ्तार किया गया

पुलिस चौकी टाउन नंबर 3 में तैनात मुख्य सिपाही तिलक कुमार ने स्नैचिंग की वारदात को मात्र 24 घंटे में सीसीटीवी फुटेज के आधार पर सुलझाते हुए मार्च 2024 में आरोपी अजय तथा सागर को गिरफ्तार कर आरोपियों से स्नैचिंग किया हुआ मोबाइल तथा वारदात में प्रयोग मोटरसाइकिल बरामद की गई। इसके अलावा वर्ष 2021 के अवैध हथियार के मुकदमे में फरार चल रहे आरोपी बेल जंपर आरोपी सदाम हुसैन को राहुल कॉलोनी से गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। इसके साथ ही एक सप्ताह से लापता एक युवती को खेड़ीपुल एरिया से सकुशल बरामद कर उनके परिजनों के हवाले करने का सराहनीय कार्य किया गया।

पुलिस आयुक्त कार्यालय:-

पुलिस आयुक्त महोदय की एस्कॉर्ट गार्ड में तैनात सिपाही संदीप तथा सिपाही सुनील द्वारा 24 अप्रैल की रात करीब 11:00 बजे एक्सीडेंट में घायल एक बाइक सवार को तुरंत अस्पताल पहुंच कर उसकी जान बचाने में मदद की। पुलिस टीम पुलिस आयुक्त के साथ बल्लभगढ़ से पुलिस आयुक्त कार्यालय की तरफ वापिस आ रहे थे कि ओल्ड मेट्रो स्टेशन के पास एक बाइक सवार दुर्घटनाग्रस्त दिखाई दिया। भारी संख्या में लोग होने के बावजूद घायल को अस्पताल ले जाकर मदद करने की बजाय वीडियो बना रहे थे। पुलिस आयुक्त महोदय ने तुरंत गाड़ी रूकवाई और घायल को अस्पताल पहुंचाने के निर्देश दिए जिसपर उक्त पुलिसकर्मियों ने उसे उठाया और गाड़ी में बीके अस्पताल की इमरजेंसी वार्ड में ले गए और उचित उपचार में मदद की। रास्ते में घायल ने अपना नाम सुनील निवासी सेक्टर 29 फरीदाबाद बताया जिसके सिर पर चोट का गहरा जख्म होने के कारण रक्तस्राव ज्यादा हो रहा था। समय पर चिकित्सा सहायता नहीं मिलने पर मामला गंभीर हो सकता था। पुलिस टीम ने उसे समय पर अस्पताल पहुंचाकर उसकी मदद कर जान बचाई।

पुलिस आयुक्त कार्यालय में तैनात मुख्य सिपाही परिवारा सिहं तथा सिपाही रिंकू की सुचना पर, जुआ शराब तथा आवश्यक वस्तु अधिनियम के 5 मुकदमों में एक महिला सहित 7 आरोपियों को काबू कर उनके कब्जे से करीब 40 पेटी शराब और बियर, 37 सिलेंडर, एक पिकअप गाड़ी, एक मोबाइल फोन तथा 9710 रुपए नकद बरामद किए गए। पुलिसकर्मियों ने 20 अप्रैल को आजाद नगर एरिया से दो आरोपियों को एक सिलेंडर से गैस निकालकर दूसरे सिलेंडर में डालते हुए काबू किया था जहां पास में ही एक सामुदायिक भवन में छोटे बच्चे पढ़ रहे थे। यहां कोई भी बड़ा हादसा घटित हो सकता था लेकिन पुलिसकर्मियों की सजगता के चलते दोनों आरोपियों को काबू किया गया। इसके साथ ही 14 अप्रैल की रैली के बारे में महत्वपूर्ण सूचना उच्च अधिकारियों को दी गई, जिसके कारण पुलिस विभाग द्वारा इस संबंध में उचित पुलिस प्रबंध किए गए जिसके चलते इस यात्रा के दौरान शांति एवं कानून व्यवस्था कायम रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here