Front News Today: आजमगढ़ में बीती रात आफत की बारिश ने मानो सब कुछ तहस-नहस कर दिया है। रात से ही आजमगढ़ में बिजली व्यवस्था ध्वस्त है वही शहर जलमग्न हो गया है। कई घरों दुकानों में पांच पांच फीट तक पानी है। लोगों को समझ में नहीं आ रहा है कि अब क्या होगा। आरटीओ समेत कई सरकारी दफ्तर भी जलमग्न हो गए। वहीं मकान गिरने से अतरौलिया में एक की मौत हो गई है।

पिछले 3 दिनों से हवा व बारिश की मार झेल रहे आजमगढ़ के लोगों के लिए अभी प्रकृति के तांडव का चरम आना बाकी रह गया था। जो बीती रात 9 बजे से रात 3 बजे तक मूसलाधार बारिश ले आई। मंजर ऐसा था मानो बादल फट गया हो। आकाशीय बिजली की तड़तड़ाहट के बीच तेज बारिश ने सोने की तैयारी कर रहे लोगों को दहशत में डाल दी। लगातार हो रही बारिश से निचले इलाके तो पूरी तरीके से डूब गए थे। वही सामान्य स्थिति वाले इलाके भी पानी की मार झेलने को मजबूर हो गये। शहर के कोलघाट के कई एरिया तो मानो टापू बन गए। वही तमसा नदी के अचानक से बढ़े जलस्तर से भी आसपास का क्षेत्र जलमग्न हो गये। बिजली के खंभे कई जगह टूट गए तो बड़े विद्युत सब स्टेशनों से लेकर छोटे उप केंद्रों तक सभी पानी से लबालब भर गए। बिजली तो पिछले 3 दिन की बारिश से ही अस्त व्यस्त थी लेकिन रात से विद्युत व्यवस्था ध्वस्त हो गई। रात से ही लोग घरों से पानी निकालने में लगे हुए थे जो दिन तक चालू था। पीड़ित लोगों के गृहस्थी का सामान डूब गया था। शहर में जल निकासी की सभी व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी थी लोग लाचार थे और प्रशासनिक व्यवस्था के साथ अपनी किस्मत को कोस रहे थे। लोगों का कहना है कि पिछले 15 साल में ऐसी मूसलाधार बारिश नहीं देखी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here