-सीएम की बीबीबीपी सलाहकार डा. उषा गुप्ता ने जिला फरीदाबाद एवं पलवल की संयुक्त बैठक में बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओ अभियान की करी समीक्षा

बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओ अभियान के लिए नियुक्त सीएम सलाहकार डा. उषा गुप्ता ने कहा कि जिला पानीपत की धरती से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को प्रदेश में सफल बनाने के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य तथा महिला एवं बाल विकास विभाग को आपसी समन्वय बनाकर कार्य करना होगा। इस अभियान को सफल बनाने में मुख्य रूप से इन तीन विभागों की अहम भूमिका है। सीएम की बीबीबीपी सलाहकार डा. उषा गुप्ता आज बुधवार को सेक्टर-16 स्थित बीडीपीओ कार्यालय में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की समीक्षा बैठक में शिक्षा, स्वास्थ्य तथा महिला एवं बाल विकास विभाग सहित अन्य विभाग के अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दे रहीं थीं।

उन्होंने कहा कि शासन और प्रशासन द्वारा संयुक्त रूप से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ (बीबीबीपी) जागरूकता अभियान चलाया जाएगा, जिससे कि ज्यादा से ज्यादा लोगों के बीच इस अभियान के प्रति जागरूकता फैलाई जा सके। शिक्षा विभाग को निर्देशित करते हुए डा. उषा गुप्ता ने कहा कि घर-घर में इस अभियान की जागरूकता के लिए स्कूली बच्चों की भी सहायता ली जाए, क्योंकि बच्चों की बातों का उनके मां-बाप पर गहरा प्रभाव होता है। इस जागरूकता के साथ ही भविष्य के लिए तैयार हो रही हमारी पीढ़ी को भी कन्या भ्रूण हत्या जैसे जघन्य अपराध के बारे में पहले से ही जानकारी होगी।

उन्होंने मौजूद सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि ऐसे गांव और क्षेत्र चिन्हित किए जाएं, जिनके लिंगानुपात की स्थिति बेहद खराब है। उन्होंने कहा कि 5वीं और 8वीं कक्षा के बाद स्कूल छोडऩे वाली लड़कियों का विद्यालय में पुन: प्रवेश सुनिश्चित किया जाए तथा एमटीपी और पीएनडीटी एक्ट के तहत डेकोय के माध्यम से चिन्हित ऐसे क्लिनिक, इंस्टीट्यूशन तथा हस्पताल जो प्रसव पूर्व लिंग जांच करते हैं, उन पर रेड कर कानूनी कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। साथ ही छापेमारी करके अवैध रूप से चल रही एमटीपी किटों की बिक्री की रोकथाम के लिए कार्य करना सुनिश्चित करें।

डा. उषा गुप्ता ने स्वास्थ्य विभाग और शिक्षा विभाग के अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए कहा कि डीपीओ द्वारा हर महीने गर्भपात सूची पर की गई कार्रवाई की रिपोर्ट आपस में सांझा करें तथा इस पर संयुक्त रूप से कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। महिला एवं बाल विकास विभाग जिला में बेटी बचाओ बेटी पढाओ अभियान के जरिए लोगों को प्रेरित करने के लिए सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन करें तथा उन कार्यक्रमों में गांव-क्षेत्र के मौजिज लोगों को भी बुलाया जाए और इन कार्यक्रमों के दौरान अच्छे लिंगानुपात वाले क्षेत्र अथवा गांव के लोगों को सम्मानित किया जाए, जिससे पिछड़ते हुए क्षेत्र के लोग भी प्रेरित हो सकें।

महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी डा. मंजू श्योरन ने बताया कि बेटी बचाओ-बेटी पढाओ योजना के अंतर्गत जिला के आंगनबाड़ी केंद्रों पर दिवसवार गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा।

बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. विनय गुप्ता, उप सिविल सर्जन डा. रामेश्वरी, डिप्टी सिविल सर्जन डा. भूपेंद्र, डा. भूपेंद्र, जिला पलवल के पीसी पीएनडीटी नोडल अधिकारी डा. प्रवीण कुमार, जिला अटोर्नी विकाश शर्मा, एडीए विनोद कुमार, महिला एवं बाल विकास विभाग की सपना, एसएमओ औरंगाबाद डा. अतुल, एसएमओ दूधौला डा. संतोष, डा. रूचि, स्वाती सहित पलवल व जिला फरीदाबाद के शिक्षा, विकास एवं पंचायत समेत अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here